The child is born in what part of the house

The child is born in what part of the house

जन्म कुंडली में मेष और वृषभ लग्न होता है तो, संतान का रूम के पूर्व दिशामें जन्म हुआ है.

जन्म कुंडली में मिथुन लग्न होता है तो, संतान का रूम के अग्नि कोने में जन्म हुआ है.

जन्म कुंडली में कर्क और सिंह लग्न होता है तो, संतान का रूम के दक्षिण कोने में जन्म हुआ है.

जन्म कुंडली में कन्या लग्न होता है तो, संतान का रूम के नैरुत्य कोने में जन्म हुआ है.

जन्म कुंडली में तुला और वृश्चिक लग्न होता है तो, संतान का रूम के पश्चिम कोने में जन्म हुआ है.

जन्म कुंडली में धन लग्न होता है तो, संतान का रूम के वायु कोने में जन्म हुआ है.

जन्म कुंडली में मकर और कुम्भ लग्न होता है तो, संतान का रूम के उत्तर कोने में जन्म हुआ है.

जन्म कुंडली में मीन लग्न होता है तो, संतान का रूम के इशान कोने में जन्म हुआ है.

जन्म कुंडली में मेष, कर्क, सिंह, कन्या, तुला, धन और मीन लग्न होता है तो, संतान का रूम के बिस्तर पे जन्म हुआ है.

जन्म कुंडली में वृषभ, मिथुन, वृश्चिक, मकर, और कुम्भ लग्न होता है तो, संतान का रूम के जमीन पे जन्म हुआ है.

जन्म कुंडली में वृषभ, मिथुन, वृश्चिक, मकर, और कुम्भ लग्न होता है तो, संतान का रूम के जमीन पे जन्म हुआ है.